Neem Ke Fayde Or Nuksan- Neem Benefits And Side Effect In Hindi

Neem Ke Fayde Or Nuksan

नीम (Azadirachta indica) का पेड तो आप सभी ने देखा होगा | और शायद आप नीम का उपयोग अपने जीवन में करते होगे | नीम प्रकर्ति का दिया हुआ एक वह औषधि पेड़ है जो की किसी संजीवनी से कम नही है | नीम खाने में कड़वा(Bitter) जरुर होता है लकिन बीमारियों में हमेशा मीठा यानि की अच्छा होता है | ब्यूटी(Beauty) से ले कर बड़े बड़े रोगों में और उनकी दवाईयों में नीम(Neem) का उपयोग किया जाता है | नीम का हर हिस्सा हो सब गुणकारी होते है | नीम के अगर सभी फायदों के बारे में बात करे तो सायद मेरे से लिखी हुई ये पोस्ट कम पड़ जाएगी | लकिन फिर भी हम इसी पोस्ट में कुछ इसे most neem ke fayde or nuksan  के बारे में बतायेगे जो शायद आप अभी तक नही जानते |

Neem Ke Fayde -नीम के फायदे 

1.रक्त शुद्धि करने में -Blood Purification


Blood Purification

नीम हमेशा से ही एक रक्त शुद्धि करने वाले tonic की तरह काम करता है | ये ना केवल आपके body से आपके सभी रक्त को शुद्ध कर देता है बल्कि body में से अशुद्ध (Impure) चीजों को बाहर निकल देता है |

ऐसे करे उपाय -

  1. अगर नियम से रोज़ सुबह खाली पेट नीम की कच्ची पत्तियों(soft leaves) को खाया जाये तो हर प्रकार की पेट के रोग को जड़ से खत्म करने की ताकत रखता है |
  2. रोजाना नीम की पतियों को शहद(honey) के साथ भी सेवन करने से उतना ही लाभ  होता है |
  3. अगर आपके आस पास नीम का पेड़ नही है तो नीम की कैप्सूल का भी सेवन आप डॉक्टर की सलाह से आप रोज कर सकते है |
  4. नीम की पत्तियों और मुनक्का को खाली पेट खाने से रक्त शुद्द होता है |
नीम का सेवन करने के बाद 1 घंटे तक कुछ खाए पिए ना |

2.मधुमेह के लिए नीम का रस - Neem For Diabetes In Hindi


Neem For Diabetes In Hindi

मधुमेह (diabetes) रोगियों के लिए तो ये एक वरदान से कम नही है | ये आपके body में से इन्सुलिन की मात्रा को कम करना है बिना शर्करा(Sugars) के स्थर को प्रभावित किये | मधुमेह कितना भी पुराना हो और चाहे कोई भी लेवल का क्यों नही है सब के लिए फायदा देता है |

ऐसे करे उपाय -

  1. अपने Doctor  की सलाह से नीम की गोलियों का या फिर नीम के चूरन का सेवन करे |
  2. इसके अलावा आप नीम की पतियों का सेवन रोजाना भी कर सकते हो |
  3. नीम की साफ पत्तियों को सुखा कर चूरन बना ले अब रोजाना इसके १ चम्मच का सेवन खाली पेट रोज सुबह करने से पुराने से पुराना डायबिटीज भी जड़ से खत्म हो जाता है |

3.गठिया (आर्थराइटिस) के लिए नीम - Neem For Arthritis


Neem For Arthritis

नीम से सेवन करने से गठिया रोगी के लिए रामबाण इलाज है | इससे सुजन कम होती है और दर्द में राहत भी मिलती है |

ऐसे करे उपाय -

  1. नीम की पत्तियों को फूलो सहित पानी में उबाल के इस पानी को ठंडा होने के बाद रोग दोनों time सेवन करने से पुराने से पुराने गठिया रोग में फायदेमंद होता है |
  2. बाज़ार से या घर पे ही नीम का तेल बना ले इस तेल की मालिश से हर तरह का दर्द फिर चाहे वो पीठ दर्द को या गठिया का सब में आराम मिलता है |

4.कैंसर का इलाज - Neem For Cancer

Neem For Cancer

2014 में हुई एक रिसर्च से ये साबित हुआ है की नीम में इसे तत्व मोजूद है जो कैंसर(Cancer) को खत्म करने में कारगर है | इसके सेवन से हार्मोन में हो रहे बदलाव को रोकता है और इसके साथ कोशिका विभाजन को भी कंट्रोल करता है | नीम के सभी भागो जेसे की नीम की पत्तियों ,नीम की छाल, नीम के फूल सभी में इसे चमत्कारी तत्व मोजूद होते है | कैंसर में नीम का उपयोग डॉक्टर की सलाह के बिना ना करे |

5. मुंह की बीमारियों में नीम-Neem In Mouth Diseases

मुह की बीमारी जेसे की दांतों में कीड़ा लगना , मुह में बदबू आना यह तक की मुह के छाले आदि में नीम सटीक इलाज है | क्योकि ये जीवाणुरोधी(Antibacterial) और बैक्टीरिया (Bacteria) को मरने में सबसे अच्छा है |

ऐसे करे उपाय -

  1.  अगर आप नीम की टहनी से रोज दांत साफ करते है तो gurrenty के साथ हम ये कह सकते है की आपके कभी भी मुह के रोग जीवन भर नही होगे |
  2. अगर आपके आस पास नीम की टहनी न मिले तो आप बाज़ार में मिलने वाले नीम के toothpast का उपयोग भी कर सकते है | लेकिन ये नीम की टहनी जितने कारगर नही होते है |

नीम के अन्य फायदे

नीम के उपयोग से सर की जूँ (Lice)  खत्म हो जाती है |
  1. सर में रूशी और बाल टूटने की समस्याओ में
  2. पेट के कीड़ो में
  3. नाख़ून के related रोगों में
  4. मलेरिया में
  5. कटने या घाव में

Neem ke Nuksan(नीम के नुकसान )- Side Effect Of Neem


Neem ke Nuksan

जितने नीम के फायदे है (neem ke fayde) है उठने की नीम के नुकसान (Neem ke nuksan ) भी है | नीम का सेवन करने से पहले इन बातो का हमेशा ध्यान रखना चाहिए |

  1. मधुमेह रोगियों को बिना डॉक्टर की सलाह के बिना नीम का सेवन नही करना चहिये |
  2. जो महिलाये  प्रेगेनेंट(Pregnant) है या स्तनपान (Feeding The Beast) करवाती है उनको भी इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए |
  3. नीम के तेल (oil) को कभी भी भूल के भी न खाए |

निष्कर्ष (conclusion)-  तो ये थे neem ke fayde  जिससे आप किसी भी रोग का इलाज कर सकते है | इसकी पत्तियों का स्वाद खाने में जरुर कड़वा होता है लकिन जितना कड़वा इसका स्वाद है उतना या ये मान लो उससे ज्यादा ये गुणकारी भी है |
Neem Ke Fayde Or Nuksan- Neem Benefits And Side Effect In Hindi Neem Ke Fayde Or Nuksan- Neem Benefits And Side Effect In Hindi Reviewed by News Junction on July 18, 2018 Rating: 5
Powered by Blogger.